Tractor Gyan Blog

SHARE THIS

किसान ने बनाई ऐसी मशीन की खरीददारों की लगी लाइन

Bhat who crossed the 1,000 marks in the sale of his Areca Bikes a few days and currently has orders for 100 more

इस मशीन को बंटवाल तालुका के कोमाले गाँव के एक किसान ने अरेका नट (Areca nut bike) नामक बाइक का आविष्कार किया है। किसान व्दारा बनाई गई अरेका नट (Areca nut bike) नाम की बाइक को पिछले केवल सात महीने में 1000 से अधिक किसान खरीद चुके है। तो चलिए हम जानते है, ऐसा क्या है इस मशीन में और इस मशीन का उपयोग कहाँ कहां किया जा सकता है और इससे क्या क्या फायदे होते है।

पिछले साल जून में, गणपति भट ने 2-स्ट्रोक इंजन द्वारा चलने वाली बाइक का आविष्कार किया था।

जिसका उपयोग किसान कीटनाशकों का छिड़काव करने के लिए लम्बे पेड़ो पर जैसे सुपारी के पेड़, नारियल, खजूर के पेड़ो पर चढ़कर बड़ी आसानी से कर सकते हैं, और उनकी फसल भी काट सकते हैं।

आज के आधुनिक युग में इस मशीन की सहायता से किसानों को जल्दी और समय पर काम करने में बहुत मदद साबित हुई है ऐसा मशीन खरीदने वालो का कहना है। इस मशीन का उपयोग कर समय और पैसे भी बचाये जा सकते है।

यह मशीन इतना Famous हो गई कि महिंद्रा ग्रुप के चेयरमैन आनंद महिंद्रा ने भी इसकी सराहना की और उनकी कंपनी के अधिकारियों ने भट से संपर्क कर। इसे बाजार में लाने की अनुमति मांगी। भट ने यह प्रस्ताव को ठुकरा दिया क्योंकि उन्हें लगता है। कंपनी इस मशीन के उत्पाद लागत को किसानों के लिए अप्रभावी बना सकती है।

भाट जिन्होंने कुछ दिनों में अपनी अरेका बाइक्स (Areca nut bike) की बिक्री में 1,000 अंक पार कर लिए और वर्तमान में 100 से अधिक ऑर्डर उनके पास मौजूद है, उन्होंने आगे कहा कि उत्पादन में सुधार अंतिम चरण में है, और एक बार यह हो जाने के बाद उत्पाद पूरा फुल सेट के साथ आएगा जो इकट्ठा आसान होगा। इसकी लागत में भी कमी आएगी। वर्तमान में एक अरेका बाइक (Areca nut bike) की कीमत जीएसटी (GST) सहित 75,000 रुपये है।

अब तक किसानों को बेची गई 1,000 बाइकों में से, इसका आधा हिस्सा राज्य के बाहर एस्कुट नट (Areca nut) खेतों में चला गया है। आगे उन्होंने कहा कि  "मैंने अकेले केरल और तमिलनाडु को 380 से अधिक बाइक बेची हैं। कर्नाटक में, शिवमोग्गा, थिरताहल्ली, अगुम्बे और सिरसी जैसे स्थानों में मांग अधिक है, दक्षिण कन्नड़ में जहां एस्का नट उत्पादक खुद खेतों में काम करते हैं, और मजदूरों पर कम निर्भर हैं। भाट ने कहा, बहुत ज्यादा मांग नहीं है क्योंकि मजदूरों की उपलब्धता एक बड़ा मुद्दा नहीं है। इसके अलावा, भाट ने कहा कि अधिकांश बाइक 5-10 किसानों के समूह द्वारा पैसा इकट्ठा करके खरीदी रहे है।

पिछले छह महीनों में, चार डीलरों ने शिवमोग्गा, थिरताहल्ली, बीसी रोड और नेरालकट्टे में अभिनव उत्पाद का वितरण करने के लिए दुकानें खोली हैं। निर्माण इकाई को बंटवाल से शिवमोग्गा में स्थानांतरित कर दिया गया है, जहां उत्पाद की उच्च मांग है। भट ने पेटेंट के लिए आवेदन किया है।

हमें लिखें!
यदि आपके पास ऐसी कोई खबरें, विचार, कला के कार्य,जो हमारे माध्यम से सब लोगो तक पहुँचना चाहते हैं, तो बस हमें एक कमेंट कर जरूर बताये दें।
Courtesy  edexlive​

Read More
IMPACT OF CORONA VIRUS ON TRACTOR INDUSTRY

MB PLOUGH मिट्टी को कैसे बेहतर बनाता है

क्या खास बनाता है EICHER 485 Tractor को

ट्रैक्टर में कौन सा गियर बॉक्स सबसे अच्छा होता है

3 लाख किसानों को मिलेगा किसान क्रेडिट कार्ड

Write Comment About BLog.

Enter your review about the blog through the form below.



Customer Reviews

Record Not Found

blog

https://images.tractorgyan.com/uploads/1600433182-Diggi-constructed.jpeg

किसान डिग्गी अनुदान योजना: आप डिग्गी निर्माण कराएं, लागत का आधा खर्चा सरकार देगी।

कृषि में सिंचाई का क्या महत्व है ये हर किसान भली भांति समझता है। किसान जानता है कि अगर उसे सिंचाई के...

https://images.tractorgyan.com/uploads/1600412842-anger-of-the-farmers.jpeg

किसानों के आक्रोश के बीच तीनों कृषि विधेयक हुए पारित, जानें क्यों हो रहा है विरोध और सरकार क्या कह रही है।

पिछले एक दो महीने से किसान सरकार के जिन 3 अध्यादेशों के खिलाफ लगातार अपनी आवाज बुलंद कर रहें थे, जिन...

https://images.tractorgyan.com/uploads/1600235272-Pedi-Watch-App.jpeg

पेडी वॉच ऐप: क्या होगा जब बनेगा दुनिया का पहला ऐसा ऐप जो हर समय आपकी फसल की निगरानी करेगा।

क्या हो अगर ऐसी तकनीक बन जाए जिसकी मदद से यह जानकारी मिल जाए कि कितने क्षेत्र में कौनसी फसल है? द...