Tractor Gyan Blog

SHARE THIS

बंपर अनाज से मिल सकती है देश को राहत पिछले साल से 10.46 मीट्रिक टन फसल ज्यादा होने का अनुमान

    https://images.tractorgyan.com/uploads/1589729677-anj.png

कोरोना वायरस और लॉकडाउन के बीच देश के लिए एक अच्छी खबर है। दरअसल शुक्रवार को केंद्रीय कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने बताया कि फसल वर्ष 2019-20 में अनाज उत्पादन के रिकॉर्ड 295.67 मीट्रिक टन रहने का अनुमान है। ऐसे में अगर फसल वर्ष 2018-19 से तुलना की जाए तो इस बार 10.46 मीट्रिक टन अधिक अनाज का उत्पादन हुआ है।

इस साल बंपर अनाज उत्पादन होगा |

इसके मद्देनजर कृषि वर्ष 2019-20 के लिए अधिकतर फसलों के उत्पादन का अनुमान सामान्य उत्पादन की अपेक्षाकृत अधिक आंका गया है। समय-समय पर मिलने वाली सटीक सूचनाओं के आधार पर इन आंकलनों में सुधार किया जा सकता है। जो इस वर्ष  फसल का  रिकॉर्ड 295.67 मीट्रिक टन छूने का आकड़ा था ,जिसमे लगातार चौथे वर्ष देश में रिकॉर्ड तोड़ उत्पादन हुआ है।

2019-20 के फसल वर्ष (जुलाई-जून) के दौरान चावल, गेहूं, मोटे अनाज, तिलहन और कपास में रिकॉर्ड उत्पादन का अनुमान है।

 Record Projection

Third advance crop production estimates (in million tonnes)

 

2019-20 3rd advance estimates

2018-19

 

2019-20 3rd advance estimates

2018-19

Rice

117.94

116.48

Coarse Cereals

47.54

43.06

Wheat

107.18

103.6

Maize

28.98

27.72

Pulses

23.01

22.08

Bajra

10.31

8.66

Gram

10.9

9.94

Jowar

4.63

3.48

Tur

3.75

3.32

Total  foodgrains

295.67

285.21

Moong

2.34

2.46

Oilseeds

33.5

31.52

Urad

2.33

2.02

Cotton*

36.05

28.04

     

Sugarcane

358.1

405.4

*in milliands bales (1 bale is 170 kgs)
 

Buy tractor know facts

 कुछ जरूरी बातें ट्रैक्टर खरीदने से पहले जानना जरूरी है
यह भी पढ़े


कृषि मंत्रालय ने तीसरा अग्रिम अनुमान जारी करते हुए कहा कि देश में कुल फसल खाद्यान्न उत्पादन रिकॉर्ड 295.67 मीट्रिक टन है, जो 2018-19 में कुल फसल खाद्यान्न उत्पादन  की तुलना में 10.46 मीट्रिक टन ज्यादा है।

इस साल चावल का उत्पादन रिकॉर्ड 117.94 मीट्रिक टन के साथ ही गेहूं का भी रिकॉर्डतोड़ उत्पादन 107.18 मीट्रिक टन होने का अनुमान है


आगे की खबर - कृषि आयुक्त एस के मल्होत्रा ​​ने खरीफ फसलों की बुवाई की योजना बनाने के लिए आयोजित एक वीडियो कॉन्फ्रेंस में कहा, ‘‘भारतीय मौसम विभाग (आईएमडी) ने देश भर में जून से सितंबर के दौरान दक्षिण-पश्चिम मानसून की बारिश सामान्य होने की संभावना जताई है जो खरीफ (ग्रीष्म) फसलों के लिए अच्छा साबित होने की सभावना कोविड-19 की वजह से लॉकडाउन के दौरान मश्ल्होत्रा ​​ने राज्य सरकारों को खेती के कामों की छूट और खरीफ फसलों की बुवाई के दौरान व्यक्तिगत दूरी बनाकर रखने और स्वच्छता का पालन करने के बारे में भी बताया।


इस बार बंपर होगी अनाज की पैदावार ...

उन्होंने कहा कि खरीफ फसलों की बुवाई देश के कुछ हिस्सों में शुरू हो चुकी है और उन्होंने फसल वर्ष 2010-21 के लिए खाद्यान्न उत्पादन लक्ष्य निर्धारित किये जाने के बारे में बताया। उन्होंने कहा कि कृषि मंत्रालय ने खरीफ (गर्मी) के मौसम में 14 करोड़ 99.2 लाख टन खाद्यान्न उत्पादन और रबी (सर्दियों) सत्र में 14.84 करोड़ टन के उत्पादन का लक्ष्य रखा है।


ट्रैक्टर्स और खेती सम्बंधित और भी जानकरी पाने के लिए हमारे व्हाट्सप्प ग्रुप के मेंबर बनिए। Whatsapp लिंक पर क्लिक करें


Read More

TAGS: farmer

blog

https://images.tractorgyan.com/uploads/1590569685-सरकार नये और पुराने कृषि यंत्रो पर दे रही भारी सब्सिडी,.png

सरकार नये और पुराने कृषि यंत्रो पर दे रही भारी सब्सिडी, फॉर्म भरने की अंतिम तारीख़ 15 जून!

कोविड-19 की महामारी के देखते हुये कृषि एवं किसान कल्याण विभाग ने कृषि यंत्रो पर अनुदान का लाभ लेने क...

https://images.tractorgyan.com/uploads/1590471490-Pradhan Mantri Kisan Samman Nidhi.png

Agricultural Subsidy: PM KISAN Samman Nidhi Yojana

Pradhan Mantri Kisan Samman Nidhi (PM-KISAN) is a scheme with 100% funding from the Government of In...

https://images.tractorgyan.com/uploads/1590403225-DBT Agriclture.png

What is DBT Agriculture? Here’s How Farmers Can Avail Benefits

Launch And Overview Of The Programme The central and state governments initiated several schemes...