Tractor Gyan Blog

SHARE THIS

फसल नुकशान की होगी भरपाई, 31 जुलाई से पहले जरूर करवाये फसल बीमा रजिस्ट्रेशन तो मिलेगा इस स्कीम का फायदा

खरीफ फसलों के बीमा (Pradhan Mantri Fasal Bima Yojana) की अंतिम तिथि 31 जुलाई 2020 है जो ऋणी किसान बीमा सुविधा नहीं चाहते है वह अंतिम तिथि के 7 दिन पूर्व लिखित रूप से अपनी बैंक शाखा को अवश्य सूचित करें.


मोदी सरकार (Government of India) की स्कीम प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना का फायदा उठाना चाहते हैं तो खरीफ फसलों के बीमा की अंतिम तिथि 31 जुलाई 2020 है. जो ऋणी किसान बीमा सुविधा नहीं चाहते है वह अंतिम तिथि के 7 दिन पूर्व लिखित रूप से अपनी बैंक शाखा को अवश्य सूचित करें. गैर ऋणी किसान सी एस सी, बैंक, एजेंट अथवा बीमा पोर्टल पर फसल बीमा स्वयं कर सकते हैं. आपको बता दें कि  प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के जरिए बे मौसम बारिश या जरूरत से ज्यादा बारिश से फसल को होने वाले नुकसान की भरपाई की जाती है. मौसम में अचानक बदलाव या फिर मानसून के दौरान कई किसानों की मेहनत की गाढ़ी कमाई पल-भर में बर्बाद हो जाती है. किसानों की इसी समस्या को देखते हुए क्रेंद्र सरकार ने इसे 13 जनवरी 2016 को शुरू किया था.

फसल बीमा योजना में किन साम्याओं पर मिलता है बीमा भुगतान- कृषि मंत्री का कहना है कि योजना के अंतर्गत ओले पड़ना, जमीन धसना, जल भराव, बादल फटना और प्राकृतिक आग से नुकसान पर का आंकलन कर भुगतान किया जाता है.और साथ  में प्राकृतिक आपदा में फसलों को नुकसान पहुंचने पर केंद्र सरकार ने किसानों की फसल नुकशान की भरपाई के लिए फरवरी 2016 में अति महत्वाकांक्षी ‘प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना’ की शुरुआत की गई थी.

कैसे मिलता है PMFBYमें लाभ- बुआई के 10 दिन के अंदर किसान को PMFBY का अप्लीकेशन फॉर्म भरना होगा. बीमा की रकम का लाभ तभी मिलेगा जब आपकी फसल किसी प्राकृतिक आपदा की वजह से ही खराब हुई हो. बुवाई से कटाई के बीच खड़ी फसलों को प्राकृतिक आपदाओं, रोगों व कीटों से हुए नुकसान की भरपाई. खड़ी फसलों को स्थानीय आपदाओं, ओलावृष्टि, भू-स्खलन, बादल फटने, आकाशीय बिजली से हुए नुकसान की भरपाई. फसल कटाई के बाद अगले 14 दिन तक खेत में सुखाने के लिए रखी गई फसलों को बेमौसम चक्रवाती बारिश, ओलावृष्टि और आंधी से हुई क्षति की स्थिति में व्यक्तिगत आधार पर क्षति का आकलन कर बीमा कंपनी भरपाई करेगी. प्रतिकूल मौसमी स्थितियों के कारण फसल की बुवाई न कर पाने पर भी लाभ मिलेगा.


कितना प्रीमियम पैसा देना पड़ता है

खरीफ की फसल के लिये 2 फीसदी प्रीमियम और रबी की फसल के लिये 1.5% प्रीमियम का भुगतान करना पड़ता है. PMFBY योजना में कॅमर्शियल और बागवानी फसलों के लिए भी बीमा सुरक्षा प्रदान करता है. इसमें किसानों को 5% प्रीमियम का भुगतान करना पड़ता है.

जरूरी कागज़ात - किसान की एक फोटो, आईडी कार्ड, एड्रेस प्रूफ, खेत का खसरा नंबर, खेत में फसल का सबूत देना होता है.

किसान क्लेम हेतु बीमा कम्पनी के टोल-फ्री नम्बर 18002005142 या फिर 1800120909090 पर या बीमा कंपनी और कृषि विभाग विशेषज्ञ से सम्पर्क साध सकते हैं. इसके लिए 72 घंटे का समय निर्धारित किया गया है. नुकसान होने पर खेतवार नुकसान का आकलन कर भुगतान किया जाता है.

ट्रैक्टर्स और खेती सम्बंधित और भी जानकरी पाने के लिए लिंक पर क्लिक करें

Buy tractor know facts

  टिड्डी के हमले से बचाओ का सबसे कारगर तरीक़ा
   यह भी पढ़े

Buy tractor know facts

   सरकार नये और पुराने कृषि यंत्रो पर दे रही भारी सब्सिडी, फॉर्म भरने की            अंतिम तारीख़ 15 जून!
   यह भी पढ़े

Buy tractor know facts

 12 आसान तरीके जिससे TRACTOR की कीमत कम की जा सकती है
 यह भी पढ़े

Buy tractor know facts

 जानिए TRACTOR खरीदते समय क्या देखें HP या TORQUE
 यह भी पढ़े

Buy tractor know facts

 सरकार दे रही है उम्मीद से दोगुनी SUBSIDY कृषि यंत्रों पर
 यह भी पढ़े

Buy tractor know facts

 10 खेती की मशीनों के उपयोग से आपकी कमाई हो जायेगी कई गुना
  यह भी पढ़े

Write Comment About BLog.

Enter your review about the blog through the form below.



Customer Reviews

Record Not Found

blog

https://images.tractorgyan.com/uploads/1601103166-Kisan-Samman-Nidhi.jpeg

किसान सम्मान निधि अब 6 हज़ार नहीं 10,000 रुपए सालाना।

●     केंद्र के 6,000 के साथ अब राज्य सरकार भी 4,000 रुपए खाते में भेजेगी, किसान...

https://images.tractorgyan.com/uploads/1601012097-drip-sprinkler.jpeg

ड्रिप स्प्रिंकलर खरीदने है तो अभी खरीदो, 90% सब्सिडी मिलेगी।

किसानी में सिंचाई व्यवस्था का बहुत महत्व है। बेहतर सिंचाई व्यवस्था होगी तो बेहतर पैदावार होगी, बेहतर...

https://images.tractorgyan.com/uploads/1600862015-heavy-words.jpeg

ट्रैक्टर से जुड़े ये भारीभरकम शब्द समझ नहीं आते है? आइए जानें इन्हें आसान भाषा में।

●    इन फीचर्स का मतलब नहीं पता तो खरीद बैठोगे गलत ट्रैक्टर।    &nb...