Tractor Gyan Blog

SHARE THIS

जैविक खेती के लिए उपयोगी कृषि उपकरण

जैविक खेती में उपयोगी कृषि उपकरण

जैविक खेती के लिए उपयोगी कृषि उपकरण

कृषि पर्यावरण का एक महत्वपूर्ण हिस्सा है । परंतु कीटनाशकों, रासायनिक दवाईयों एवं फ़र्टिलाइज़र आदि के उपयोग से पर्यावरण पर नकारात्मक प्रभाव पड़ रहे हैं । ऐसे में विश्व भर के किसानों द्वारा जैविक खेती का सराहनीय कदम उठाया गया है

 

जैविक खेती क्या होती है ?

 

जैविक या ऑर्गेनिक खेती में जैविक खाद का उपयोग किया जाता है । ऑर्गेनिक खेती मिट्टी की उत्पादकता को तो बढ़ाती ही है साथ में यह मृदा अपरदन होने से भी बचाती है । क्योंकि ऑर्गेनिक फार्मिंग में कीटनाशक आदि का उपयोग नहीं होता इसीलिए इसमें खरपतवार ज्यादा होती है । जिस के लिए किसानों को अलग कृषि पद्धति का उपयोग करके खेती करनी पढ़ती है । ऐसे में समय-समय पर खरपतवार का निपटान और प्रतिदिन खेत की देखरेख बहुत जरूरी होती है । यूं तो जैविक खेती पारंपरिक तरीकों से भी की जा सकती है परंतु आधुनिक मशीनों के उपयोग से कम समय और कम मेहनत में ज्यादा उत्पादकता पाई जा सकती है ।

 

जैविक खेती में उपयोगी कृषि उपकरण

 

 सामान्यतः जैविक खेती और आधुनिक खेती में सामान कृषि उपकरणों का उपयोग होता है । परंतु आधुनिक खेती में उपयोग होने वाले उपकरणों का एक बड़ा हिस्सा जैविक खेती पद्धतियों में उपयोग नहीं किया जा सकता । जैविक खेती में सामान्य रूप से इस्तेमाल होने वाले कुछ कृषि उपकरण कुछ इस प्रकार है ।

 

ट्रैक्टर

ट्रैक्टर खेत में उपयोग होने वाली सबसे आवश्यक मशीनरी में से एक है । इसकी शक्ति और मजबूत बनावट के साथ किसान आसानी से काफी सारे कृषि उपकरण का इस्तेमाल कर सकते हैं । यह हार्वेस्टर रोटावेटर हल आदि कृषि मशीनरी के उपयोग को सरल बनाता है ।

 

रेक

रेक किसी भी प्रकार की खेत के लिए एक बहुत ही सामान्य उपकरण है । इस यंत्र का मुख्य कार्य जमीन को ढीला और समतल करना है । पारंपरिक तौर पर हर एक को जानवरों या मानव बल द्वारा खींचा जाता था । परंतु आधुनिक दौर में इसे ट्रैक्टरों की मदद से आसानी से उपयोग किया जा सकता है ।

 

हार्वेस्टर

कंबाइन हार्वेस्टर एक शक्तिशाली मशीनरी है । इसमें कटाई के लिए एक कंगी और एक रैक होता है । जो मशीन के अगले हिस्से में एक एक्सेस पर घूमता है । यह मशीन प्रायः फसल काटने के लिए उपयोग की जाती है । खास बात है कि यह मशीन मेहनत और उत्पादन की लागत को बहुत हद तक घटाने में सक्षम है ।

 

हल

हल का उपयोग खेती की जमीन में जोताई करने के लिए किया जाता है । इसका उपयोग मुख्य तार जमीन को काटने और समतल करने के लिए किया जाता है ।

 

हैरो

हेलो वह उपकरण है जिसका उपयोग झुर्रियां बनाने और जमीन को समतल करने के लिए किया जाता है । हैरो का उपयोग जमीन में पड़ी गाठों को तोड़ने के लिए भी किया जाता है ।

 

इरिगेशन स्प्रिंकलर

इरिगेशन स्प्रिंकलर सिंचाई के लिए उपयोग होने वाला एक उपकरण है । एयरबोर्न को साफ करने और नियंत्रित करने के लिए स्प्रिंकलर बहुत उपयोगी है । यह पौधों तक पानी पोहुँचाने की तकनीक है । जो हवा में घूम कर मिट्टी पर पानी का छिड़काव करती है । पानी आमतौर पर पंप के द्वारा स्प्रिंकलर तक आता है । जिससे इसे उपकरण द्वारा हवा में छिड़क दिया जाता है ।

 

बीज एवं उर्वरक यन्त्र

यह उपकरण बीज को सीधा रखने और उर्वरक को वितरित करने के लिए बनाया गया है । यह कृषि भूमि में उर्वरक जोड़ने का काम करता है ।

 

बेलर

बेलर का मुख्य कार्य खेत में अनाज के भूसे का बंडल बनाना है । इन्हें अलग-अलग कार्यों के लिए इस्तेमाल किया जा सकता है - जैसे की मिट्टी हटाने के लिए , टांके खोलने , उत्पादों का परिवहन करने, या खरपतवारओं को नष्ट करने के लिए भी बेलर का उपयोग होता है।

 

Read More

CLEAN, WINTERIZE FARM EQUIPMENT FOR EXTENDED LIFE

Write Comment About BLog.

Enter your review about the blog through the form below.



Customer Reviews

Record Not Found

blog

https://images.tractorgyan.com/uploads/1600433182-Diggi-constructed.jpeg

किसान डिग्गी अनुदान योजना: आप डिग्गी निर्माण कराएं, लागत का आधा खर्चा सरकार देगी।

कृषि में सिंचाई का क्या महत्व है ये हर किसान भली भांति समझता है। किसान जानता है कि अगर उसे सिंचाई के...

https://images.tractorgyan.com/uploads/1600412842-anger-of-the-farmers.jpeg

किसानों के आक्रोश के बीच तीनों कृषि विधेयक हुए पारित, जानें क्यों हो रहा है विरोध और सरकार क्या कह रही है।

पिछले एक दो महीने से किसान सरकार के जिन 3 अध्यादेशों के खिलाफ लगातार अपनी आवाज बुलंद कर रहें थे, जिन...

https://images.tractorgyan.com/uploads/1600235272-Pedi-Watch-App.jpeg

पेडी वॉच ऐप: क्या होगा जब बनेगा दुनिया का पहला ऐसा ऐप जो हर समय आपकी फसल की निगरानी करेगा।

क्या हो अगर ऐसी तकनीक बन जाए जिसकी मदद से यह जानकारी मिल जाए कि कितने क्षेत्र में कौनसी फसल है? द...